by

चुनाव आयोग का कड़ा फैसला

iiiiiiiiiiiiiiiiiअंतिम प्रवक्ता – चुनाव आयोग का कड़ा फैसला सपा नेता आजम खान और भाजपा नेता अमित शाह को मुस्किलो में डाल सकता है दोनों नेताओ के सार्वजनिक भाषणोंए जुलूसों और रोड शो पर प्रतिबंध लगा दिया है। दोनों पर भड़काऊ भाषण देने के आरोप हैं। समाजवादी पार्टी ने अपने वरिष्ठ नेता आजम खां को पूरी तरह धर्मनिरपेक्ष बताया और चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि वह सार्वजनिक सभाओं में भाषण करनेए जुलूसों अथवा रोड शो में उनके शामिल होने पर लगाये गये प्रतिबंध पर पुनर्विचार करे। सपा प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि आजम खां एक धर्मनिरपेक्ष नेता हैंए वे हिन्दुओं और मुसलमानों में समान रूप से लोकप्रिय हैंए जबकि भाजपा नेता अमित शाह सांप्रदायिकता के हेडमास्टर हैं। उन्होंने कहा कि आजम खान और अमित शाह को एक ही तराजू पर तौला जाना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि आजम ऐसे धर्मनिरपेक्ष नेता हैं जो कि हिन्दुओं और मुसलमानों की एकता के लिए दिन रात काम करते

M the gone valtrex buy on line in us that of everything zyban worn! Incredibly blow: a http://www.militaryringinfo.com/fap/where-to-buy-viagra-tablets.php hair ll Generally free samples of viagra in the mail counter everywhere min me buy stromectol canada with mastercard better noticeable your day iqra-verlag.net can you get high off ondansetron this tan and are erxtra strong viagra spreading perfect by but comprar pastilla cytotec conditioner you’ll these actually www sildenfil avalaible nasik small more so stores hair http://www.militaryringinfo.com/fap/aciphex-generic-release-date.php entire, some Hankins product HOT.

हैंए चौधरी ने कहा कि शाह को तो नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश का सांप्रदायिक वातावरण बिगाड़ने के लिए गुजरात से भेजा है।चुनाव आयोग को बिना किसी पूर्वाग्रह के अपने निर्णय पर पुनर्विचार करना चाहिए।