by

फिल्मी अंदाज में हुआ था सेक्सवर्कर का कत्ल

नई दिल्ली, अंतिम प्रवक्ता। फिल्मी अंदाज में एक प्रेम को लगा कि वह अपनी प्रेमिका को कोठे की गंदगी के निकाल बेहतर जिंदगी देगा, लेकिन खुद को असफल साबित होता देख उसने उस प्रेमिका का ही गला रेत दिया, जिसको वह अपनी जीवन संगिनी बनाना चाहता था, उसको ही मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं वारदात के बाद शव के पास बैठकर रोया और माफी भी मांगी।
घटना नए साल के दूसरे दिन जीबी रोड स्थित कोठा संया 57 में हुई सेक्सवर्कर की हत्या के मामले को कमला मार्किट पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। मामले में आरोपी तन्नु चावला 27 वर्ष और उसके साथी योगेश 30 वर्ष को पुलिस पहले ही गिरतार कर चुकी है। वहीं दोनों की गिरतारी के बाद पुलिस को हत्या में इस्तेमाल किए गए जिस चाकू की तलाश थी, उसे आरोपियों के घर से बरामद कर लिया गया है। पुलिस को आरोपियों के पास से खून से सने हुए कपड़े मिले हैं।
पूरे मामले का खुलासा करते हुए मध्य दिल्ली के डीसीपी आलोक कुमार ने बताया कि तन्नु और योगेश दोनों ही दोस्त हैं। दोनों दक्षिणी दिल्ली के महरौली में अपने-अपने परिवार के साथ रहते हैं। तन्नु पिछले सवा साल से जीबी रोड स्थित कोठा संया 57 में हर रोज आया करता था। यहां मोना (परिवर्तित नाम) नाम की सेक्सवर्कर से मन ही मन वह मोना से प्यार करने लगा। वह उसके लिए गहने व उपहार लाने लगा, जिसके चलते उसके ऊपर लाखों का कर्जा हो गया। दोनों की मोहब्बत के बारे के काफी लोगों को पता चल गया। पुलिस के मुताबिक तन्नु काफी समय से मोना पर धंधा छोड़कर उसके साथ रहने का दबाव बना रहा था। तन्नु का कहना था कि या तो मोना उसके साथ रहने लगे यह फिर अपने घर तिरुपति चली जाए। परन्तु काफी कर्ज के कारण मोना वह धंधा छोडऩा नहीं चाहती थी। पहले से शालीशुदा होने के बावजूद तन्नु लगातार मोना पर धंधा छोडऩे का दबाव बनाता रहा। लेकिन जब मोना ने धंधा छोडऩे से मना कर दिया तो तन्नु अपने दोस्त योगेश के साथ मिल कर उसे मारने की योजना बनाई। योगेश ने मोना का मुंह दबाया और तन्नु ने चाकू से मोना का गला रेत दिया व दोनों वह से निकल लिए। जिसके बाद मामले की तफतीश कर रही पुलिस टीम ने दोनों को धर दबाचा और उनकी निशानदेही पर कत्ल में इस्तेमाल किया गए हथियार की बरामदगी हुई। फिलहाल मामले में आगे की कार्रवाई जारी है।
images

Leave a Reply