by

संस्था द्वारा आयोजित पाँचवा विष्व हिंदी दिवस एवं सांस्कृतिक समारोह 2015

V0002556संस्था परिवर्तन जन कल्याण समिति के तत्वाधान में हिंदी भवन, विष्णु दिगम्बर मार्ग, नई दिल्ली-110002 में पाँचवा विष्व हिंदी दिवस एवं सांस्कृतिक समारोह 2015 का आयोजन दिनांक 31 जनवरी 2015 को किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री महेश चन्द शर्मा, (पूर्व महापौर) ने की। मुख्य अतिथि के रुप मंे डा. जी वी जी कृष्ण मूर्ति, (पूर्व निवार्चन आयुक्त, भारत) एंव विशिष्ट अतिथि के रुप मंे श्री कमल किशोर (पूर्व सासंद), श्री आर.पी. सिंह (महासचिव अंतर्राष्ट्रीय क्षत्रिय महासभा) व डा. बालस्वरूप राही (पूर्व रीडर, दिल्ली विष्व विद्यालय) सम्मानित अतिथि के रुप मंे डा. हरि सिंह पाल (उपनिदेषक आकाषवाणी), श्री राजवीर सिंह व श्री ओ. पाी. राठौर व मुख्य वक्ता के रुप मंे श्री नारायण कुमार (मानद निदेषक, अंर्तराष्ट्रीय सहयोग परिषद्) उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्जवलन से हुआ।
स्वागताध्यक्ष डा. प्रवीन सिंह जादौन (समन्वयक, इगनू, उरई जालौन), ने इस कार्यक्रम को देश सेवा का कार्यक्रम बताया। संस्था अध्यक्ष देशपाल सिंह राठौर ने संस्था की उपलब्धियों व गतिविधियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि संस्था यह कार्यक्रम सयुक्त राष्ट्र संघ में हिंदी भाषा माध्यम लागू करने के लिए समर्पित करती है।
कार्यक्रम के द्वितीय चरण में राजभाषा हिंदी सम्मान वितरित किये गये। हिंदी काव्य श्री सम्मान: – श्री गिरीष चन्द्र जोषी (उप निदेषक, जन गणना विभाग, दिल्ली सरकार), डा. रवि षाक्य, “काव्य” (मुख्य टिकट निरीक्षक, उत्तर मध्य रेलवे झासी) व श्री अषोक कुमार सिंह ‘सम्राट‘ (षिक्षक, राजकीय सह षिक्षा सर्वोदय विद्यालय, रोहिणी, दिल्ली), समाज सेवा रत्न सम्मान: श्रीमती संतोष गोयल (जिला अध्यक्ष, भाजपा महिला मोर्चा, महरौली) एंव हिंदी प्रत्रकारिता रत्न सम्मान: डा. डी. के. पाल (संपादक, पाल बघेल क्षेत्रिय समाचार पत्र) व श्री सत्य प्रकाष (अधिवक्ता) (प्रबंध संपादक, लीगल बाउंडरी पत्रिका), श्री अरविन्द गोयल (संपादक, दिव्यषनी प्रसन्नता पत्र) व धन्यवाद ज्ञापन डा. इन्दर सेंगर ने किया।
सभागार मंे उड़ीसा, महाराष्ट्र, आन्ध्र प्रदेश व उत्तर प्रदेश से पधारे विशिष्ट साहित्यकार, समाजसेवी, बुद्धिजीवी, संस्था कार्यकर्ता एंव मीडियाकर्मी उपस्थित थे। कार्यक्रम को सफल बनाने में कार्यक्रम संयोजक श्री हरी चन्द आर्य, प्रधान आर्य समाज मदनगीर, दिगविजय पाठक, श्री एस.पी. त्यागी, संस्था महासचिव, लक्ष्मण कुमार सिहं, हेमन्त सिंह चैहान, ओमकार सिंह यादव, ओ.पी. सिंह, पप्पू भाईया, जे.एन. सिंह, जितेन्द्र जैन, रवि कुमार व सुरजीत सिंह राठौर की विशेष भूमिका रही। राष्ट्रगान के बाद कार्यक्रम समाप्त किया गया।