by

केजरीवाल सरकार ने दिया झटका

19_03_2015-18kejriwal1aअरविंद केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के लोगों को झटका दिया। सरकार ने पानी की दरों में 10 प्रतिशत बढ़ोतरी का फैसला किया है। दिल्ली जल बोर्ड की बैठक में यह निर्णय लिया गया। प्रतिमाह 20 हजार लीटर (20 किलोलीटर) से अधिक पानी खर्च करने पर बढ़ी हुई दर से पानी के बिल का भुगतान करना होगा। करीब 12.70 लाख उपभोक्ताओं पर इसका बोझ पड़ेगा। गौरतलब है कि पिछले माह राज्य विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने बिजली और पानी की दरों को आधा करने का वादा किया था। सरकार बनने के बाद एक माह में 20 हजार लीटर तक पानी खर्च करने वाले को कोई शुल्क नहीं देने का निर्णय हुआ था।
बता दें कि पानी की दरों में हर साल इजाफे का प्रावधान है। चुनाव से पहले राष्ट्रपति शासन के दौरान जल बोर्ड की बैठकों में पानी की दरों में बढ़ोतरी के प्रस्ताव को ठुकरा दिया गया था।
राजधानी में जल बोर्ड के करीब 21 लाख उपभोक्ता हैं। जल बोर्ड के अधिकारिक सूत्रों के अनुसार करीब 8.30 लाख उपभोक्ता ऐसे हैं जो प्रतिमाह 20,000 लीटर से कम पानी खर्च करते हैं। इस तरह करीब 12.70 लाख उपभोक्ताओं को पानी का अधिक बिल चुकाना पड़ेगा। हालांकि सरकार का दावा है कि करीब 18 लाख लोगों को मुफ्त पानी मिलेगा।
25 किलोलीटर खर्च करने पर 672 रुपया करना पड़ेगा भुगतान