by

पेट्रोलियम मंत्रालय में जासूसी अफसर समेत 5 गिरफ्तार

maxresdefaultदस्तावेज लीक करने के आरोप में दो अफसरों और तीन दलालों को गिरफ्तार किया है दिल्ली पुलिस का कहना है कि इस मामले में कंपनियों की भूमिका हो सकती है. दिल्ली पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद ‘पूछताछ में सामने आया है कि ये सभी फर्जी कागजात और डुप्लिकेट चाबी बनाकर अंदर घुसते थे. सभी आरोपी निजी कंपनियों के लिए काम करते थे.’ जिन पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है, उनमें से आसाराम और ईश्वर सिंह पेट्रोलियम मंत्रालय में क्लर्क और चपरासी हैं. गिरफ्तार व्यक्तियों में से एक ने खुद को पत्रकार बताया है.. शास्त्री भवन में उसका आना-जाना लगा रहता था. बाकी दो के तार कंपनियों से जुड़े बताए जा रहे हैं. बताया जाता है कि क्राइम ब्रांच इन पांचों पर पिछले कई दिनों से नजर रखी हुई थी माना जा रहा है कि दस्तावेजों की हेराफेरी में शामिल व्यक्तियों पर ऑफिशल सीक्रेट एक्ट के उल्लंघन का केस दर्ज कर हो सकता है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि मामले में जांच हो रही है.