हमारे बारे में

हम भारत  के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय में मासिक पत्रिका के रूप में पंजीकृत है /वेब पोर्टल /वेब विसुअल पर  प्रतदिन  नवीन समाचार प्रकाशित किये जाते है /हमारे वेब पोर्टल पर प्रकाशित समाचारों को पुन प्रकाशित करने की अनुमति आसानी से प्राप्त की जा सकती है /पुन प्रकाशन   अनुमति के लिए प्रधान  संपादक   ceoapnews@gmail.com par ईमेल भेजकर अनुरोध किया जा सकता है ,अनुमति के बगैर पुन प्रकाशन पूर्ताया बार्जित है ,जिस पर कॉपी राईट अधिनियम के अंतर्गत कर्यबाही की जा सकती है /अंतिम विकल्प (मासिक) समाचार पत्रिका के सम्पादक एवं सम्पादन मंडल व कार्यकारिणी ने अंतिम प्रवक्ता नाम से पत्रिका शुरू की है। जिसके सफल प्रकाशन को एक वर्ष हो चुका है। हमारे पाठक वहीं हैं, केवल स्वामित्व एवं नाम में परिवर्तन हुआ है। अंतिम प्रवक्ता के स्वामी, सम्पादक, प्रकाशक श्री देशपाल सिंह राठौर के नेतृत्व में अंतिम विकल्प को सभी महारत्नों, नवरत्नों मिनी रत्न, राष्ट्रीयड्डत बैंकों ने पत्रिका प्रकाशन में अपना पूरा योगदान किया।अंतिम प्रवक्ता ने सभी हिंदी राज्यों, उ. प्र., बिहार, झारखण्ड, म.प्र., छत्तीसगढ़, राजस्थान हरियाणा, हिमाचल प्रदेश व दिल्ली के अतिरिक्त गुजरात व कर्नाटक एवं चारों महानगरों तक विस्तार किया है।

अंतिम प्रवक्ता  समाचार पोर्टल का भी संचालन कर रही है।

अंतिम प्रवक्ता पत्रिका, वेबसाइट सरकारी राजस्व, सरकारी राजस्व भागीदारी वाली कम्पनियों एवं सार्वजनिक उपक्रमों की सामाजिक जिम्मेदारी एवं देश के विकास में इनकी भूमिका के विशेष प्रचार के लिए प्रतिबंद्ध है, एक ओर जहां समाचार चैनल पत्रिकाओं, पत्रों की संख्या में वृद्धि हो रही है वहीं दूसरी ओर समाजिक सरोकारोें और खोजी पत्रिकारिता खत्म हो रही है। पेड न्यूज (प्रायोजित समाचार), अंग्रेजी का बोलबाला के बीच हिंदी भाषी, क्षेत्रीय भाषी पत्रकारिता घुटन महसूस कर रही हैं जितने अंग्रेजी समाचार पत्र भारत में प्रकाशित होते हैं, उतने किसी अंग्रेजी भाषी देश में भी नहीं होते हैं। पत्रिका ऐसे वर्गों के बीच कार्यरत हैं जो व्यवसायिक समाचार चैनल एवं गुलाबी समाचार पत्रों की पहुंच से वंचित है। आज लोकतंत्र को बदनाम करने का एवं केवल नेताओं में ही भष्ट्राचार, खामिया ढूंढने का कार्य एक संगठित रूप से हो रहा है। अंतिम विकल्प से अंतिम प्रवक्ता समाचार पत्रिका नई पहल के साथ आपका प्रवक्ता बनकर अपने प्रभावी क्षेत्रों में राष्ट्र सेवा करेगी।

हम भारत  के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय में मासिक पत्रिका के रूप में पंजीकृत है /वेब पोर्टल /वेब विसुअल पर  प्रतदिन  नवीन समाचार प्रकाशित किये जाते है /हमारे वेब पोर्टल पर प्रकाशित समाचारों को पुन प्रकाशित करने की अनुमति आसानी से प्राप्त की जा सकती है /पुन प्रकाशन   अनुमति के लिए प्रधान संपादक को ceoapnews@gmail.com par ईमेल भेजकर अनुरोध किया जा सकता है ,अनुमति के बगैर पुन प्रकाशन पूर्ताया बार्जित है ,जिस पर कॉपी राईट अधिनियम के अंतर्गत कर्यबाही की जा सकती है /

 

Leave a Reply